20 लाख खातो में भेजे गए 1000 रुपये यहाँ से चेक करें नाम

E Shram Card Bhatta 2022: भारत सरकार द्वारा श्रमिको के लिए एक योजना चलायी गयी थी जिसका रजिस्ट्रेशन लगभग सबने करा लिया था इस योजना तहत सभी श्रमिको को सरकार ने आर्थिक मदद दे रही है जिन श्रमिको ने अपना श्रम कार्ड बनवा लिया है उनके खाते में 1000 रुपये सरकार हर महीने देती है

आप भी अपना श्रम कार्ड बनवा लिए है तो आपसे यही बात करने वाला हूँ की आप भी कैसे चेक कर सकेंगे की आपका का पैसा किस दिन आप के खाते में आ जायेगा| आप हमारा पूरा आर्टिकल पदिये आप भी खुद अपना पैसा चेक करना सिख कयेंगे ये बात हो रही है मई महीने की क़िस्त के बारे में जाने यहाँ से सबकुछ अभी आएगी आगे बड़ते है

 सरकार द्वारा श्रम कार्ड की पहली किस्त में ₹1000 लगभग 3 महीने पहले ही भेजा जा चुका है लेकिन इसमें सभी लोगों को पैसा नहीं मिला है इसमें कुछ लोगों को ही पैसा भेजा गया है | अभी जिन लोगो का पैसा नहीं आया वो यहाँ से चेक कर सकते है की आपका पैसा आखिर मई में कब आएगा बस आप यहाँ से जाकर चेक कर सकते है

श्रम कार्ड का पैसा पाने के लिए महत्वपूर्ण बिंदु निम्नलिखित हैं

  • सबसे पहले यदि आप अपना श्रम कार्ड बनवाए हैं तो आपको यह ज्ञान होना चाहिए कि आपने अपना खाता नंबर बिल्कुल सही भरा है यदि आपके खाते नंबर में कोई दिक्कत होगी तो आपका पैसा आपके खाते में नहीं आ पाएगा
  •  साथ ही साथ यदि आप किसी अन्य योजना का लाभ ले रहे हैं या किसी भी स्कॉलरशिप का लाभ उठा रहे हैं तब आपका श्रम कार्ड का पैसा आपके खाते में नहीं आएगा
  •  इसके साथ-साथ यदि आप एक सरकारी कर्मचारी हैं और आपने श्रम कार्ड बनवा लिया है फिर भी आपका पैसा आपके खाते में नहीं आएगा
  •  यदि आप की वार्षिक आय ₹500000 से ज्यादा है और अपने श्रम कार्ड बनवाया है तभी आपका पैसा आपके खाते में आने की उम्मीद नहीं है

E-Shram Card Benefits
ऐसे सभी भारत के श्रमिक जिनकी उम्र 19 से 60 साल है वह श्रम कार्ड का लाभ ले सकते हैं यदि आपने अभी तक अपना श्रम कार्ड नहीं बनवाया है तो बिल्कुल आप अपना श्रम कार्ड बनवा लीजिए इससे सरकार को आपके डेटाबेस पता चलेगा और आपके खाते में सरकार द्वारा पैसा भेजा जाएगा.

श्रम कार्ड बनवाने के लिए आपको किसी भी सरकारी पद पर कार्य नहीं होना चाहिए साथ ही साथ आप की वार्षिक आय 500000 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए और आप असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर या श्रमिक होनी चाहिए.

जिसमें देशभर के सभी महिला एवं पुरुष इसका लाभ ले सकते हैं क्योंकि इसके अनेक लाभ हैं जिससे श्रमिकों को लाभ लगातार मिल रहा है इस योजना के लिए 16 वर्ष से 59 वर्ष तक के सभी आवेदक आवेदन कर सकते हैं और इसका लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

इस योजना के अंतर्गत पेंशन राशि के साथ-साथ उन्हें प्रतिमाह भत्ता राशि भी दी जाती है और साथ ही ₹200000 का बीमा भी कवर किया जाता है जिससे उन्हें दुर्घटना होने पर सरकार द्वारा बीमा राशि उनके परिवार को प्रदान की जाती है।

Shramik Card का पैसा कैसे चेक करें

हम जानेंगे Shramik कार्ड की पहली किस का पैसा – श्रमिक कार्ड की पहली किस्त का पैसा चेक करने का दूसरा तरीका जिसमें आप umang app या website से अपने श्रमिक कार्ड की पहली किस्त चेक कर सकते हैं

  • सबसे पहले आप गूगल में सर्च करें “ UMANG ” अथवा इसकी वेबसाइट पर जाने के लिए आप  यहां पर क्लिक कर सकते हैं।
  • इसके अलावा आप गूगल प्ले स्टोर पर उमंग एप्लिकेशन को भी डाउनलोड कर सकते हैं हम यहां पर आपको इसकी वेबसाइट से पैसा चेक करने का तरीका बता रहे हैं।
  • जैसे ही आप यहां पर दिए गए लिंक पर क्लिक करेंगे आप इसकी वेबसाइट पर पहुंच जाएंगे।
  • सबसे पहले यहां पर आपको अपना अकाउंट बनाना होगा ।

  • उमंग पर अपना अकाउंट बनाने के लिए “ register” के विकल्प पर क्लिक करना होगा और मोबाइल नंबर पासवर्ड डालकर आप अपना अकाउंट बना सकते हैं और यहां पर आपको अपना एक “MPIN” सेट करना होगा।
E Shram Card Login
  • अब आप उमंग पर लॉगिन करेंगे।
e shram card Status
  • आपके सामने रिजल्ट खुल कर आ जाएगा जहां आपको “ Know your payment” के विकल्प पर क्लिक करना है।
इ शर्म कार्ड पेमेंट
  • अपना Bank Account Number लिखें और अपनी Bank का चयन करें।
  • अब Submit विकल्प पर क्लिक करें

  • अब यहां पर आपके सामने रिजल्ट खुल कर आ जाएगा यहां पर आपके बैंक खाते में जिस योजना से पैसे भेजे गए होंगे उसकी जानकारी दी गई होगी आप उस योजना पर क्लिक करके अपने पेमेंट की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • कई बार यहां पर आपको जानकारी सबमिट करने के बाद रिकॉर्ड नॉट फाउंड का भी विकल्प देखने को मिलेगा
  • इस प्रकार आप अपने श्रमिक कार्ड का पैसा चेक कर सकते हैं इसके अलावा आप अपने नजदीकी बैंक शाखा पर जाकर भी अपने श्रम कार्ड की आने वाली किस्त का पैसा चेक कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.